World

अमेरिका की ओर से भारत का GSP दर्जा बहाल कर भेजा जा सकता है मजबूत संकेत: अघी

वाशिंगटन: अमेरिका (America) के निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन और वॉशिंगटन द्वारा भारत के मामले में व्यापार से जुड़ी सामान्यीकृत तरजीही प्रणाली (जीएसपी) को बहाल कर देने से ही तुरंत एक छोटा व्यापार समझौता हो सकता है और इससे नई दिल्ली को एक मजबूत संकेत भी भेजा जा सकता है. एक प्रमुख भारत केंद्रित अमेरिकी व्यावसायिक पैरवी समूह ने यह कहा है.

अमेरिका-भारत रणनीतिक एवं भागीदारी मंच (यूएसआईएसपीएफ) के अध्यक्ष मुकेश अघी ने कहा कि भारत और अमेरिका जल्दी से इस तरह का एक छोटा सा व्यापार समझौता करके आगे बढ़ सकते हैं और आगे बड़े मुद्दों पर ध्यान लगा सकते हैं.

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने सितंबर में कहा कि भारत और अमेरिका के बीच सीमित व्यापार समझौता करने के मामले में जितने भी मुद्दे आड़े आ रहे थे उनका समाधान कर लिया गया है इसके बाद अमेरिका की राजनीतिक स्थिति यदि इसकी अनुमति देती है तो किसी भी समय यह समझौता हो सकता है.

भारत की ओर से अमेरिका के समक्ष जो मांगे रखी गई थीं उनमें इस्पात और एल्यूमीनियम उत्पादों पर लगाये जा रहे ऊंचे शुल्क से छूट देने, जीएसपी के तहत भारत को कुछ निर्यात सामानों पर दिए जाने वाले लाभ को बहाल करने पर जोर दिया गया. इसके अलावा कृषि, आटोमोबाइल, वाहन कलपुर्जे और इंजीनियरिंग उत्पादों को अमेरिका में बेहतर बाजार पहुंच उपलब्ध कराने को कहा गया.

दूसरी तरफ अमेरिका की ओर से भारत के बाजारों में उसके कृषि और विनिर्मित उत्पादों, डेयरी सामानों और चिकित्सा उपकरणों के लिए अधिक बाजार पहुंच उपलब्ध कराने और साथ ही कुछ सूचना अैर दूरसंचार प्रौद्योगकी के उत्पादों पर आयात शुल्क कम करने की मांग की गई.

(इनपुट- एजेंसी भाषा)

https://zeenews.india.com/hindi/world/strong-signal-can-be-sent-by-the-us-by-restoring-indias-gsp-status/783261

Show More

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: