Business

दिल्‍ली में 10 मई को खत्‍म होगा क्‍या Lockdown…

Photo:PTI CAIT demanded lockdown extended till 17 may in  delhi 

नई दिल्ली। कॉन्फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने दिल्ली की विभिन्न प्रमुख व्यापारिक संगठनों के साथ बैठक में यह निर्णय लिया है कि कोरोना महामारी की वर्तमान स्थिति के मद्देनजर अभी भी दिल्ली में दुकानें और मार्किट खोलने लायक हालात नहीं बने हैं। वर्तमान में इस लॉकडाउन को आगे बढ़ाने की जरूरत है। कैट ने आज एक बार फिर दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल को एक पत्र भेजकर वर्तमान लॉकडाउन को 17 मई तक आगे बढ़ाने का आग्रह किया है।

दिल्ली में वर्तमान में जारी लॉकडाउन 10 मई को समाप्त हो रहा है। दिल्ली के सभी भागों के प्रमुख व्यापारिक संगठनों ने मीटिंग में यह भी कहा कि दिल्ली में कोरोना को लेकर हालात ठीक नहीं है और इस लिए 10 मई से आगे एक सप्ताह अर्थात 17 मई तक दिल्ली के प्रमुख व्यापारी संगठन अपने बाजारों में स्वैच्छिक स्वयं लॉक डाउन करेंगे।

मीटिंग में दिल्ली के 100 से अधिक व्यापारी संगठनों के व्यापारी नेता मौजूद थे। उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा कि किसी भी सूरत में हम दिल्ली के व्यापारियों को कोरोना की आग में जलते रहने के लिए नहीं छोड़ सकते। इसलिए या तो सरकार द्वारा लॉकडाउन को एक सप्ताह के लिए आगे बढ़ाया जाए अथवा व्यापारियों द्वारा स्वैच्छिक लॉक डाउन किया जाना ही वर्तमान में एक मात्र विकल्प है।

मीटिंग में इस बात का भी जिक्र किया गया कि, दिल्ली में लॉकडाउन का सख्ती से पालन नहीं हो रहा है। केवल दुकानें बंद है जबकि आने जाने पर कोई रोक टोक नहीं है। कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए दिल्ली में सम्पूर्ण लॉक डाउन सख्ती के साथ लगाया जाना जरूरी है।

Covid-19 महामारी का सबसे बुरा असर आया सामने, 23 करोड़ भारतीयों को किया प्रभावित

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के प्रकोप को देखते हुए Honda Cars ने लिया बड़ा फैसला

LIC के पॉलिसी धारकों के लिए आई जरूरी खबर…

COVID-19 को फैलने से रोकने में मदद करना चाहते हैं मुकेश अंबानी, सरकार से मांगी इस बात की इजाजत

भुगतान पाने के लिए कर्मचारियों को दिखाना होगा अब अपना Aadhaar…

Lockdown के लिए तैयार हैं व्‍यापार और घर-परिवार, इस बार पिछले साल से कम होगा प्रभाव

 

Source link

Show More

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: