देश का पहला मामला: स्वर्ण नगरी के हवाई सेवा फिर से शुरू होगी स्पाइसिस जेट, दो की पूर्ति करेंगे व्यापी, शुरू होगी पर्यटकों की सवारी

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जैसलमेर2 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

जैसलमेर का विश्व प्रसिद्ध सुनहरी स्वर के लिए सोनार फोर्ट।

  • रंग लाई जैसलमेर को पर्यटन व्यवसायियों की मुहिम
  • कोरोना के कारण जैसलमेर का कट गया था संपर्क

स्वर्ण नगरी में पर्यटकों की आवक सुनिश्चित करने में जुटे कब्जों की मुहिम आखिरकार रंग लाई। अब पर्यटक आराम से हवाई जहाज के जरिये जैसलमेर पहुंचेंगे। स्पाइस जेट दिल्ली से जैसलमेर व अहमदाबाद की हवाई सेवा जारी रखने पर सहमति हो गई है। हवाई सेवा 12 फरवरी से बहाल की जाएगी। हवाई सेवा के दौरान स्पाइस जेट को होने वाले नुकसान की भरपाई यहां के कब्जी मिलकर करेंगे। देश में अपने तरह का यह पहला ऐसा मामला है जिसमें व्यवसायियों ने मिलकर हवाई सेवा जारी रखने के लिए इस तरह की पहल की है।

जैसलमेर जिला कलेक्टर आशीष मोदी के प्रयास से स्पाइस जेट व व्यवसायियों के बीच एक समझौता हुआ। इस एमओयू के तहत लागत से कम आय होने पर स्थानीय पर्यटन व्यवसायों द्वारा उसका भुगतान किया जाएगा। इसके लिए हर 15 दिन में बुक सीटों का हिसाब स्पाइसजेट कंपनी करेगी। जिसके बाद यदि घाटा रहता है तो 15 दिन की लागत में कम होने वाली राशि का भुगतान स्थानीय पर्यटन व्यवसायियों द्वारा दिया जाएगा। स्पाइसजेट के साथ एमओयू के तहत आगामी 12 फरवरी से 13 मार्च तक हवाई सेवा सुचारू रखने की बात हुई।

सप्ताह में तीन दिन दिल्ली व तीन दिन अहमदाबाद के लिए हवाई सेवा सुचारू रखी जाएगी। जिसमें सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को दिल्ली और मंगलवार, गुरूवार और शनिवार को अहमदाबाद के लिए उड़ान शुरू होगी। स्पाइसजेट द्वारा दिल्ली तक उड़ान के लिए हर फेरे के 6 लाख व अहमदाबाद की उड़ान के लिए 1 लाख रुपए का खर्च बताया गया है।

देश में पर्यटन को बचाने के लिए स्थानीय लोगों द्वारा की गई यह पहल अपने आप में ऐसा पहला मामला है। ऐसा एमओयू देश में पहली बार हुआ है जिसमें हवाई सेवा सुचारू रखने के लिए पर्यटन व्यवसायी आगे आया है। पर्यटन व्यवसायियों का एकमात्र उद्देश्य हवाई सेवा के माध्यम से पर्यटन को बचाना है। स्पाइसजेट ने लागत ज्यादा आने व यात्री कम मिलने के चलते ही गत 28 जनवरी से हवाई सेवा बंद कर दी थी। जिस पर केवल स्थानीय पर्यटन व्यवसायियों द्वारा यह एमओयू किया गया है।

जैसलमेर के महाराजवल चैतन्यराज सिंह ने कहा कि ये सराहनीय प्रयास है। ये सभी लोगों की जैसलमेर के प्रति प्यार है। उम्मीद है यह मुहिम सफलतापूर्वक चलेगी। होटल व्यवसायी मयंक भाटिया का कहना है कि ऐसा पहली बार हो रहा है कि हवाई कंपनी और जैसलमेर को लोग मिलकर हवाई सेवा चलाएंगे। सभी ने हिम्मत दिखाई और पर्यटन को बचाने की सराहनीय पहल की। सम रिसॉर्ट वेलफेयर विकास समिति के अध्यक्ष केके व्यास का कहना है कि यदि स्पाइस जेट ज्यादा कमाएंगा को तो वह उनका रहेगा। यदि घाटा होता है तो उसके नुकसान की भरपाई करने की हम गांरटी देते हैं। कोरोना काल के कारण जैसलमेर की कनेक्टिविटी पूरी तरह से समाप्त हो गई थी। ऐसे में पर्यटक आ नहीं पा रहे थे। हम सभी तुरही से अपील करते हैं कि वे इसमें सहयोग दे और बड़ी संख्या में पर्यटकों को यहां भेजे ताकि स्पाइस जेट को घाटा न हो। यह अनुकरणीय पहल है और इसे हम सभी मिलकर ही सफल बनाते हैं अन्य लोगों के सामने उदाहरण पेश कर सकते हैं। करते अपील करना है कि

%d bloggers like this: