प्रेगनेंसी में और बच्चे को ब्रेस्टफीडिंग करवाने के दौरान Mushroom खाना चाहिए? क्या है एक्सपर्ट्स की राय, जानें

नई दिल्ली: मशरूम वैसे तो एक तरह का फफूंद यानी कवक है लेकिन इडिबेल यानी आप इसे खा सकते हैं. साथ ही मशरूम, विटामिन डी, विटामिन बी, आयरन, प्रोटीन, फाइबर और ढेर सारे एंटीऑक्सिडेंट्स से भरपूर होता है. मशरूम (Mushroom) में कैलोरीज बेहद कम होती हैं और इसे अच्छे क्वॉलिटी वाले प्रोटीन (Protein) और फ़ाइबर (Fiber) का बेहतरीन सोर्स माना जाता है. करीब 100 ग्राम वाइट बटन मशरूम में सिर्फ 22 कैलोरीज होती हैं.  कुछ मिलाकर देखें तो मशरूम को न्यूट्रिशन का पावर हाउस कहा जा सकता है. लेकिन क्या गर्भवती महिला के लिए और बच्चे को अपना दूध पिलाने वाली महिला के लिए मशरूम खाना सेफ है?

गर्भवती महिलाएं मशरूम खाते वक्त इन बातों का रखें ध्यान

एक्सपर्ट्स की मानें तो कुछ मशरूम ऐसे भी होते हैं जिन्हें खाने के बाद कुछ लोगों को एलर्जी (Allergy) हो सकती है या फिर जी मिचलाने, उल्टी आने, डायरिया जैसी दिक्कतें देखने को मिल सकती हैं. लिहाजा अगर आप प्रेगनेंसी (Pregnancy) के दौरान भी मशरूम खाना चाहती हैं तो आपको बहुत अधिक सतर्क रहने की जरूरत है ताकि किसी भी तरह के साइड इफेक्ट्स का सामना न करना पड़े. साथ ही इन बातों का भी ध्यान रखें:

ये भी पढ़ें- महिला की हेल्थ को ध्यान में रखते हुए 2 बच्चों के बीच कितना एज गैप होना चाहिए, जानें

– अगर आप प्रेगनेंट होने से पहले से ही मशरूम खाती आ रही हैं और आपको कभी कोई एलर्जी या साइड इफेक्ट्स नहीं हुए तो आप प्रेगनेंसी के दौरान भी मशरूम खाना जारी रख सकती हैं, लेकिन बहुत अधिक नहीं, कम मात्रा में ही.

– प्रेगनेंसी में पहली बार मशरूम खाना शुरू न करें क्योंकि हो सकता है कि आपको किसी तरह की एलर्जी या साइड इफेक्ट (Side effect) हो जाए जिसके बारे में आपको पहले से पता न हो.

– ऑयस्टर मशरूम, क्रेमिनी और बटन- ये 3 मशरूम आम तौर पर सेफ माने जाते हैं और अगर ये कहीं से डैमेज नहीं हैं तो आप इनका सेवन कर सकती हैं.

ये भी पढे़ं- प्रेगनेंट होने में दिक्कतें आ रही हों तो डाइट में जिंक को करें शामिल

– कच्चा मशरूम (Avoid Raw Mushroom) तो भूल से भी न खाएं. सिर्फ गर्भवती महिलाएं ही नहीं बल्कि सामान्य लोगों को भी कच्चा मशरूम नहीं खाना चाहिए क्योंकि उसे पचाना बेहद मुश्किल होता है. इसके अलावा कच्चे मशरूम में कुछ कैंसरकारी विषाक्त पदार्थ भी होते हैं जो पक जाने के बाद समाप्त हो जाते हैं. लिहाजा मशरूम को खाने से पहले उसे अच्छी तरह से पकाना बेहद जरूरी है. अधपका मशरूम भी गर्भवती महिलाओं को नुकसान पहुंचा सकता है.

– इसके अलावा मशरूम की एक वरायटी है मैजिक मशरूम (Magic Mushroom). इसका सेवन भी गर्भवती महिलाओं को नहीं करना चाहिए क्योंकि मशरूम की इस वैरायटी में साइलोसाइबिन पाया जाता है जिसकी वजह से भ्रम की स्थिति पैदा होना, मांसपेशियों में कमजोरी आना, सिर चकराना, जी मिचलाना और उल्टी जैसी दिक्कतें हो सकती हैं. लिहाजा जंगली मशरूम और मैजिक मशरूम का सेवन बिलकुल न करें.

– अगर प्रेगनेंसी में मशरूम खाना ही चाहते हैं तो मार्केट से ताजा मशरूम खरीदें और इस बात का ध्यान रखें कि उस पर कहीं से भी कोई दाग न हो या चोट के निशान न हों.

ब्रेस्टफीडिंग कराने वाली महिलाएं भी रहें सतर्क

जहां तक ब्रेस्टफीडिंग (Breastfeeding) करवाने वाली महिलाओं का सवाल है तो उन्हें भी अपनी डाइट में वही सारी सावधानियां बरतनी चाहिए जो गर्भवती महिलाएं बरतती हैं ताकि उनके दूध के माध्यम से बच्चे तक कोई भी हानिकारक चीज न पहुंच जाए.

सेहत से जुड़े अन्य लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.

https://zeenews.india.com/hindi/health/is-it-safe-to-eat-mushrooms-during-pregnancy-and-breastfeeding/854034

%d bloggers like this: