Business

शेयर बाजारों के लिए आज भी संकेत अच्छे नहीं, बुरी खबरों के बीच आज कहां होगी कमाई

नई दिल्ली: कल की सरप्राइज गिरावट के बाद आज भारतीय बाजारों के लिए संकेत ज्यादा अच्छे नहीं हैं. SGX Nifty की शुरुआत भी धीमी रही है, ये 40 अंकों की गिरावट के साथ कारोबार करता दिख रहा है. Dow Futures में 35 अंकों की गिरावट दिख रही है, जबकि Nasdaq Futures फ्यूचर्स में 60 अंकों की मजबूती के साथ कारोबार हो रहा है. 

बाकी एशियाई बाजारों की शुरुआत भी कुछ खास नहीं रही है, जापान का Nikkei 400 अंक टूटा हुआ है, चीन का Shanghai Composite भी सुस्त है, हॉन्ग कॉन्ग के बाजार Hang Seng में 300 अंकों की गिरावट के साथ कारोबार हो रहा है. 

अमेरिकी बाजारों में बड़ी गिरावट

सोमवार की छुट्टी के बाद मंगलवार को अमेरिकी बाजार खुले और जबरदस्त गिरावट को देखने को मिली. Dow Jones में 632 अंकों की बड़ी गिरावट रही, S&P 500 भी 95 अंकों की गिरावट के साथ बंद हुआ, टेक्नोलॉजी शेयरों में बिकवाली की वजह से Nasdaq में 4 परसेंट की गिरावट रही. 

पिछले 3 दिनों में डाओ जोंस 1588 अंक टूट चुका है. S&P 11 परसेंट टूट चुका है. Nasdaq के 6 दिग्गज IT शेयरों में 1 लाख करोड़ डॉलर की बिकवाली दिखी है. अकेले Apple के शेयर में 325 अरब डॉलर की बिकवाली रही है. इसके अलावा माइक्रोसॉफ्ट ने 219 अरब डॉलर, अमेजॉन ने 191 अरब डॉलर गंवाए हैं. 

Tesla का शेयर प्राइस मंगलवार को 21 परसेंट तक टूट गया, ये टेस्ला के शेयर प्राइस में एक दिन में आई अबतक की सबसे बड़ी गिरावट है. Tesla में ये गिरावट तब आई जब Standard & Poor ने उसे इंडेक्स 500 में शामिल करने से मना कर दिया. 

यूरोपीय बाजारों में भी चौतरफा गिरावट है, फ्रांस का CAC 40 सबसे ज्यादा 1.59 परसेंट टूटा है, जर्मनी का DAX 1 परसेंट और लंदन का FTSE 100 0.12% गिरकर बंद हुआ है. 

क्या हैं अंतरराष्ट्रीय संकेत
एक चुनावी रैली में ट्रंप ने चीन के साथ ट्रेड डील पर निगेटिव कमेंट किया, जिसका असर बाजार पर दिखा है. इधर, Astrazeneca ने कोरोना वैक्सीन के फ्रेज-3 ट्रायल को रोक दिया है. कंपनी का कहना है कि वैक्सीन की साइडइफेक्ट जांच पड़ताल के लिए इसे रोका गया है. दरअसल एक व्यक्ति में इस वैक्सीन के साइडइफेक्ट्स देखने को मिले हैं. 
 
कच्चे तेल के दाम गिरने से एनर्जी शेयरों पर दबाव है, कच्चा तेल 7 परसेंट फिसलकर जून के निचले स्तर पर चला गया है. मांग में गिरावट आने की आशंका से कच्चे तेल पर दबाव बना हुआ है. बैंक ऑफ अमेरिका का कहना है कि तेल खपत की रिकवरी में 3 साल लग सकते हैं. 

क्या हो आज की रणनीति
हमारे सहयोगी चैनल ज़ी बिज़नेस के मैनेजिंग एडिटर अनिल सिंघवी का कहना है कि ‘डर तो था कि अमेरिकी बाजारों में गिरावट आएगी लेकिन मंगलवार को जिस तरह से अमेरिकी बाजार टूटे वो काफी चौंकाने वाला था. अमेरिकी बाजारों की ये गिरावट परेशान करने वाली है. नैस्डेक अब करेक्शन जोन में चला जा रहा है. दूसरी ओर चीन के साथ भारत का तनाव बना हुआ है, हालांकि स्थिति जस की तस है. बहुत डरने की जरूरत नहीं है, लेकिन सावधान जरूर रहें.’ 

अनिल सिंघवी के मुताबिक ‘आज निफ्टी में सपोर्ट रेंज 11125-11175 होगी, जहां ताजा खरीदारी देखने को मिलेगी, 11375-11450 ऊपरी रेंज लेकर चल सकते हैं. बैंक निफ्टी के लिए 22200-22450 सपोर्ट रेंज है, जबकि 23000-23100 ऊपरी रेंज होगी.’ 

Source link

Show More

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: