Health

Bedwetting habit in kids: इन वजहों से सोते समय बिस्तर गीला करते हैं बच्चे, आदत छुड़ाने के लिए ये उपाय आजमाएं

नई दिल्ली: सिर्फ नवजात शिशु (Infant) ही नहीं बल्कि कई बार 4-5 साल के बच्चे भी (Toddlers) रात में सोते वक्त बिस्तर पर ही पेशाब कर देते हैं. ऐसा होने पर मां-बाप बच्चे को डांटते हैं और इस समस्या की वजह से खुद भी बहुत परेशान हो जाते हैं. लेकिन आपके लिए सबसे पहले यह जानना जरूरी है कि बच्चे इस उम्र में धीरे-धीरे अपने ब्लैडर और यूरिन पर कंट्रोल (Urine Control) करना सीख रहे होते हैं. बच्‍चे को टॉयलेट ट्रेनिंग (Toilet Training) ठीक से न मिलने पर भी बच्चा रात में सोते वक्त बिस्तर गीला कर सकता है. ऐसा होने के पीछे कारण क्या है और बच्चे को बिस्तर गीला करने से रोकने के लिए आप क्या उपाय कर सकते हैं, यहां जानें.

3 साल की उम्र तक 40% बच्चे बिस्तर गीला करते हैं

छोटे बच्चों में सोते वक्त नींद में बिस्तर पर पेशाब कर देने की आदत (Bedwetting) बेहद सामान्य है और एक स्टडी की मानें तो 3 साल की उम्र तक के करीब 40 प्रतिशत बच्चे ऐसा करते हैं. हालांकि इस सवाल ने कई एक्सपर्ट्स को यह सोचने पर भी मजबूर कर दिया है कि आखिर क्यों कुछ बच्चे बिस्तर गीला करते हैं जबकि बाकी बच्चे ऐसा नहीं करते. 

ये भी पढ़ें- बच्चों में होने वाली खतरनाक बीमारी है नेफ्रोटिक सिंड्रोम, जानें इसके लक्षण

इन वजहों से बिस्तर गीला करते हैं बच्चे

-इसका पहला कारण ये हो सकता है कि कुछ बच्चों का ब्लैडर पूरी तरह से विकसित (Underdeveloped Bladder) नहीं होता है इसलिए वह लंबे समय तक यूरिन को स्टोर करके नहीं रख पाता. 
-कई बार बिस्तर पर पेशाब करने की ये आदत जेनेटिक (Genetic) भी हो सकती है यानी माता-पिता या भाई-बहन में से किसी को ये आदत रही हो तो बच्चे में भी यह समस्या हो सकती है.
-कई बार बच्चा इस बात को समझ नहीं पाता कि उसका ब्लैडर कितना भर गया है.
-अगर बच्चे को यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन (UTI) हो तो इस वजह से भी बच्चा रात में बिस्तर पर पेशाब कर सकता है.
-इसके अलावा अगर बच्चे को स्लीप ऐप्निया (Sleep Apnea) की समस्या हो तब भी बेडवेटिंग की दिक्कत हो सकती है.

ये भी पढ़ें- छोटे बच्चों को भी होती है कब्ज की दिक्कत, कारण और बचाव के उपाय

VIDEO

बेडवेटिंग से बचने के उपाय

-सोने से पहले हमेशा बच्चे को टॉयलेट जरूर करवाएं. अगर बच्चा पेट खाली किए बिना सोएगा तो बिस्तर गीला करने की आशंका बढ़ जाएगी.
-बच्चे को सोने से पहले किसी भी तरह की कैफिनेटेड ड्रिंक या मीठी चीजें न खिलाएं. इसकी वजह से भी पेशाब ज्यादा आती है.
-अगर बच्चा बिस्तर गीला करता है तो उसे डांटने, मारने या सजा न दें. ऐसा करने से बच्चे की शर्मिंदगी और तनाव बढ़ेगा जिससे नींद में पेशाब निकलने का रिस्क बढ़ जाएगा.
-आप चाहें तो रात में एक बार सोते वक्त बच्चे को जगाकर टॉयलेट जाने की आदत भी डलवा सकते हैं.
-अगर ये सारी कोशिशें करने के बाद भी बच्चा बिस्तर गीला कर देता है तो डॉक्टर से मिलकर इसका कारण जानें और इलाज करवाएं.

(नोट: किसी भी उपाय को करने से पहले हमेशा किसी विशेषज्ञ या चिकित्सक से परामर्श करें. Zee News इस जानकारी के लिए जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है.)

सेहत से जुड़े अन्य लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें. 

https://zeenews.india.com/hindi/health/reasons-why-bedwetting-happen-in-children-and-ways-to-prevent-it/873824

Show More

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: