India

Farmers Protest: क्या है किसानों की आगे की रणनीति? संयुक्त किसान मोर्चा की अहम बैठक आज

नई दिल्ली: दो महीने से अधिक समय बीत जाने के बाद भी केंद्र के नए कृषि कानूनों (New Farm Laws) के विरोध में किसानों का आंदोलन (Farmers Protest) जारी है. अब तक किसान यूनियनों और सरकार के बीच कई दौर की वार्ता बेनतीजा रही है. 26 जनवरी को हुई दिल्ली हिंसा (Delhi Violence) के बाद सरकार और किसानों के बीच चला आ रहा गतिरोध और बढ़ गया है. हालांकि सरकार लगातार बातचीत के रास्ते मसले का हल निकालने की बात कह रही है लेकिन किसान अभी भी अपनी मांगों पर अड़े हुए हैं. इस बीच आज (बुधवार)  संयुक्त किसान मोर्चा की अहम बैठक होने जा रही है. 

किसानों की अगली रणनीति क्या? 
कुंडली बॉर्डर पर संयुक्त किसान मोर्चा (Sanyukt Kisan Morcha) की अहम बैठक होगी. इस बैठक में किसान आंदोलन (Farmers Protest) की अगली रणनीति तय की जाएगी. दावा किया जा रहा है कि संयुक्त किसान मोर्चा की इस बैठक में सभी यूनियनों के नेता शामिल होंगे. बैठक में सरकार से बातचीत का रास्ता खोलने पर भी चर्चा होगी. गणतंत्र दिवस हिंसा (Republic Day Violence) के बाद से अब तक किसान यूनियों की यह पहली बड़ी बैठक होगी. 

यह भी पढ़ें; जब राज्य सभा में PM Narendra Modi बोले- ‘मोदी है तो मौका लीजिए, फूफी तो नाराज होनी ही हैं’

‘लंबा चलेगा आंदोलन’
बता दें, राज्य सभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) स्पष्ट कर चुके हैं कि MSP खत्म नहीं किया जा रहा है. उन्होंने कहा, MSP था, है और रहेगा. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि अगर भविष्य में भी कोई शंका होगी तो सरकार उसको भी खत्म करेगी. प्रधानमंत्री के आश्वासन के बाद भी किसान पीछे हटने को तैयार नहीं हो रहे हैं. भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने एक बार फिर कहा है, ‘यह आंदोलन लंबा चलेगा. अभी सरकार को 2 अक्टूबर तक का समय दिया गया है. दिल्ली से किसान वापस नहीं आ रहे थे जो साढ़े तीन लाख ट्रैक्टर गए थे वे वापस आ रहे थे. सरकार गलतफहमी में न रहे कि किसान वापस चला जाएगा.’

यह भी पढ़ें: राज्य सभा में किसानों को PM मोदी का स्पष्ट संदेश- ‘MSP था, MSP है और MSP रहेगा’

बता दें, कृषि कानून (New Farm law) रद्द कराने की मांग को लेकर किसान पिछले 76 दिनों से दिल्ली के तमाम बॉर्डर पर बैठे हुए हैं. सरकार के साथ 11 दौर की बातचीत बेनतीजा रही है. बीते 18 दिन से बातचीत का रास्ता बिल्कुल बंद है. अब एक बार फिर किसान रणनीति बना रहे हैं.  

LIVE TV

Source link

Show More

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: