Sports

IND vs ENG: बल्लेबाजी को लेकर आचोलना झेल रहे Ajinkya Rahane के सपोर्ट में आए कोच Pravin Amre

अहमदाबाद: भारत और इंग्लैंड (India vs England) के बीच मौजूदा टेस्ट सीरीज में रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने अपनी बल्लेबाजी से हर किसी का दिल जीता. पिंक बॉल टेस्ट (Pink Ball Test) में टर्निंग पिच के बावजूद ‘हिटमैन’ ने हाफ सेंचुरी लगाई.

दूसरी तरफ टीम इंडिया के उपकप्तान अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) लगातार अच्छा प्रदर्शन करने मे नाकाम रहे हैं. मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (Melbourne Cricket Ground) में 112 और नाबाद 27 रनों की पारी खेलने के बाद उन्होंने ऑस्ट्रेलिया में 22, 4, 37 और 24 रन बनाए थे.

यह भी पढ़ें- AUS के पूर्व कप्तान ने कहा, ‘भारत ने इंग्लैंड की इस कमजोरी का फायदा उठाया’

अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) की कप्तानी में भारत ने ऑस्ट्रेलिया (Australia) में 2-1 से टेस्ट सीरीज जीती थी. पूरी सीरीज के दौरान उनकी कप्तानी की भी तारीफ हुई थी लेकिन भारत लौटने के बाद इंग्लैंड (England) के खिलाफ जारी टेस्ट सीरीज में अब तक सिर्फ 1, 0, 67, 10 रन ही बनाए हैं.

भले ही भारतीय उपकप्तान की बैटिंग की आलोचना हो रही हो, लेकिन टीम इंडिया के पूर्व बल्लेबाज और रहाणे के बल्लेबाजी कोच प्रवीण आमरे (Pravin Amre) ने कहा कि जीत में योगदान देना भी उतना ही अहम है. आमरे ने रविवार को  कहा, ‘बल्लेबाजी करना आसान नहीं रहा है. आप देख सकते हैं कि ज्यादा शतक नहीं बने हैं.’

 

उन्होंने कहा, ‘शतकों का संख्या कम होने का मतलब है कि बल्लेबाजी करना आसान नहीं है. हम कह सकते हैं कि दूसरा टेस्ट शतक अहम था. खासकर तब जब उन्होंने रोहित के साथ साझेदारी की थी. आप टीम की सफलता में भी योगदान दे सकते हैं. ऐसा नहीं है कि आपको सफलता के के लिए हमेशा बड़े स्कोर करने होंगे.’

पिछले 8 टेस्ट मैचों में अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) और रविचंद्रन अश्विन के अलावा किसी अन्य भारतीय ने अब तक शतक नहीं लगाया है. इससे पहले  इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट में नाकाम रहने के बाद भी भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने भी रहाणे का समर्थन किया था.

https://zeenews.india.com/hindi/sports/cricket/ind-vs-eng-ajinkya-rahane-key-contribution-goes-unnoticed-said-coach-pravin-amre-india-vs-england-rohit-sharma-virat-kohli-r-ashwin/857222

Show More

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: